Home| Health |Fashion & Lifestyle |Subh Vichar |Shayari |Jokes |Astrology |News |Sports |Technology |Entertainment |Religion-Dharam | Health Tips | God Gallery | Cine Gallery | Nature Gallery | Beauty Styles | Fun Gallery |
Top Voted |  Top Viewed | 
Telecom  
Computer  
Space Technology  
Gadgets  

TODAY'S POLL
  We should drink water with food?  
     
  Yes  
  No  
  Cant Say  
     
   
     

  NEWSLETTER  
 
Sign up our free newsletter.
 
     
1
Vote
Bitcoin माइनिंग क्या होता है ?
Posted by arpit on November 20, 2017
Category : Technology | Tags : bitcoin mining, bitcoin miner, blockchain | Views : 18

बिटकॉइन में किसी भी लेन / देन के ट्रांसक्शन की डिटेल्स को रिकॉर्ड करने की प्रकिया को बिटकॉइन माइनिंग कहा जाता है | जैसे आप अपने बैंक के ट्रांसक्शन पास बुक में अपडेट कराते है उसी तरह से बिटकॉइन के सभी लेन / देन का भी ऑनलाइन कम्प्यूटर्स में रिकॉर्ड रखा जाता है - इस प्रकिया को ही हम बिटकॉइन माइनिंग कहते है | मुझे उम्मीद है अब आप को समझ आ गया होगा की बिटकॉइन माइनिंग का मतलब किया होता है |

जैसे आपकी पास बुक में पिछले सभी डेबिट/क्रेडिट की डिटेल्स होती है ऐसे ही बिटकॉइन के हर ट्रांसक्शन का रिकॉर्ड भी रखा जाता है और इस पिछले ट्रांसक्शन की डिटेल्स को ब्लॉक या ब्लॉकचेन कहा जाता है | इसका थोड़ा और आसान करके समझ लेते है - पासबुक में ट्रांसक्शन्स अपडेट करने की प्रकिया को बिटकॉइन की भाषा में माइनिंग कहते है और पिछले ट्रांसक्शन की जो डिटेल्स पासबुक में है उनको ब्लॉक या ब्लॉकचेन कहते है |

जो लोग कंप्यूटर सॉफ्टवेयर की मदद से बिटकॉइन ट्रांसक्शन की डिटेल्स को सत्यापित करते है अर्थात माइनिंग करते है उनको बिटकॉइन माइनर कहा जाता है | बिटकॉइन माइनर को ये काम करने के बदले नए बिटकॉइंस मिलते है और माइनर ही नए बिटकॉइन सिस्टम में ऐड करते है |




Copyright 2016 sharecoollinks.in        |